माइकल डेल DELL Company की सफलता की कहानी michael dell biography in hindi

माइकल डेल का प्रारंभिक जीवन – Michael Dell Early Life Information in Hindi


माइकल डेल का जन्म 23 फरवरी 1965 को अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में हुआ था। उनके पिता का नाम लेक्जेंडर डेल था। जो कि एक दांतों के डॉक्टर थे। और उनकी मां का नाम निलग्फांन था। जो कि एक स्टॉकब्रोकर थी। 


माइकल ने अपनी शुरुआती पढ़ाई ह्यूस्टन के हिरोड एलिमेंट्री स्कूल से की। और बचपन से ही भी अपनी मां से इन्वेस्टमेंट के गुण सीखते रहे। जिसके बाद 10 साल की उम्र से ही उन्होंने अपनी पॉकेट मनी को इन्वेस्ट करना शुरू कर दिया।
यहां तक कि उन्हें पैसे कमाने का इतना शौक हो गया था कि वह डाक टिकट बेचने लगे। अपनी केवल 12 साल की उम्र तक उन्होंने 2000डॉलर तक की सेविंग कर ली थी।

माइकल डेल DELL Company की सफलता की कहानी michael dell biography in hindi

और उस टाइम $2000 एक बच्चे के लिए बहुत हुआ करते थे। धीरे-धीरे करके उनके पैसे बढ़ते चले गए और उन्होंने शेयर्स और मेटल्स में पैसे इन्वेस्ट करना शुरू कर दिया। जिससे उन्हें पूरे साल में $18000 का प्रॉफिट हुआ। जो कि उनके हिस्ट्री और इकोनॉमिक्स टीचर्स की एनुअल इनकम से कई ज्यादा था। इतनी छोटी सी उम्र में वह एक अच्छे इन्वेस्टर नजर आ रहे थे।


आगे चलकर कंप्यूटर का चलन भी तेजी से होने लगा। और डेल जब 15 साल के थे तो उनके माता-पिता ने उन्हें एक कंप्यूटर ला कर दिया। माइकल का कंप्यूटर की तरफ लगाव हो गया और वह ज्यादा समय कंप्यूटर को देने लगे। माइकल ने सोचा कि यह कंप्यूटर काम कैसे करता है, इस रूचि को जानने के लिए उन्होंने कंप्यूटर को अलग-अलग करके खोल दिया।

उन्होंने यह देखा कि आखिर यह काम कैसे करता है। और उन्होंने दूसरी कंपनी का एक और कंप्यूटर लाकर इसे जानने में लग गए। उसको भी उन्होंने अलग कर दिया।जल्द ही माइकल की मेहनत रंग लाई और उन्हें पता चल गया कि यह किस तरीके से काम करता है।

माइकल डेल DELL Company की सफलता की कहानी michael dell biography in hindi


 आगे चलकर बायोलॉजी की पढ़ाई के लिए उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास में एडमिशन ले लिया। बायोलॉजी उन्होंने इसलिए ली क्योंकि उनके माता-पिता चाहते थे कि वह एक डॉक्टर बने। लेकिन उनका मन बायोलॉजी में बिल्कुल भी नहीं था। उन्होंने अपने कॉलेज के दिनों में कंप्यूटर्स के पार्ट इकट्ठा करके उन्हें असेंबल करके लोगों को बेचने का काम शुरू कर दिया। अब लोगों को महंगे कंप्यूटर खरीदने की कोई जरूरत नहीं थी, क्योंकि उन्हें असेंबल करके एक सस्ता कंप्यूटर मिल रहा था।

असेंबल किया हुआ कंप्यूटर किसी एक कंपनी के कंप्यूटर से काफी सस्ता था। माइकल का यह बिजनेस बहुत तेजी से चल पड़ा। और आगे चलकर उन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ कर (PC’S Limited) नाम की एक कंपनी बनाई। और कुछ महीने बाद उन्होंने अपनी कंपनी का नाम बदलकर (Dell Computer Corporation) रख दिया।

माइकल डेल DELL Company की सफलता की कहानी michael dell biography in hindi


धीरे-धीरे करकर कारोबार बढ़ने लगा। क्योंकि लोगों को माइकल का काम करने का तरीका पसंद था। और वह सर्विस बहुत अच्छी देते थे। और जब उनकी उम्र केवल 27 साल थी तो वह यंगेस्ट सीईओ बने। जिनकी कंपनी ने फॉर्च्यून 500 में जगह बना ली।

आज के समय में Dell कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी  टेक्नॉलोजी इन्फ्राट्रक्चर में से एक है। 28 अक्टूबर 1989 को उन्होंने सुसान लाइबरमैन के साथ शादी की। और सुसान से उन्हें कुल 4 बच्चे हैं।

और पढ़े

Note:

आपके पास मैं और
माइकल डेल DELL Company की सफलता की कहानी michael dell biography in hindi Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इसे समय समय पर अपडेट करते रहेंगे.अगर आपको हमारे लेख अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और WhatsApp पर Share कीजिये.E-MAIL Subscription करे और पायें बड़े आसानी लेख अपने ईमेल पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here