Disha Vakani ki kahani - GyanHindiMe


Disha Vakani ki kahani दिशा वकानी जो कि 9 साल से 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के सीरियल में काम कर रही हैं। दोस्तों अगर हमारे देश में कोई ऐसा सीरियल है, जिसे बच्चे, बूढ़े और औरतें, जवान सब मिलकर देख सकते हैं। तो वह 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' सीरियल ही है। 

और इस सीरियल में 'दया बेन' का किरदार निभाकर शो में चार-चांद लगाने वाली दिशा वकानी की बात ही अलग है। इसके अलावा उनके अजीबोगरीब गरवा की बात की जाए, तो उसकी जितनी तारीफ करो उतनी ही कम है। तो चलिए दोस्तों हम उनके बारे में शुरू से जानते हैं।


Disha Vakani ki kahani
Disha Vakani ki kahani


दया का जन्म 17 सितंबर 1978 को गुजरात के अहमदाबाद में हुआ था। उनके पिता का नाम भीम वकानी है। जो एक छोटी सी थिएटर कंपनी चलाते थे। इसके अलावा वह स्कूल में ड्राइंग टीचर भी थे। दिशा का बैकग्राउंड थिएटर से था। इसलिए उनका मन एक्टिंग में लग गया। 

दिशा का कहना है कि उनके पिताजी एक थिएटर चलाते थे। जहां एक्टिंग के लिए उन्हें हमेशा लड़कियों की फ़िक्र रहती थी। क्योंकि उन दिनों तक  गुजराती लड़कियों का थिएटर तक आना बिल्कुल भी चलन में नहीं था। इसीलिए उन्होंने अपने पिता की मदद के लिए बड़े होकर एक्टर बनने की सूची।


दिशा की पढ़ाई की बात करे तब उन्होंने अपनी शुरू की पढ़ाई सिद्धार्थ स्कूल से की। और फिर गुजरात कॉलेज अहमदाबाद से उन्होंने ड्रैमेटिक आर्ट में डिप्लोमा किया। डिप्लोमा की डिग्री लेने के बाद उन्होंने अपने पिता के थिएटर में काम करना शुरू कर दिया। 

दिशा के भाई मयूर वकानी बताते हैं। की दिशा के अंदर किसी एक्टिंग करने की बहुत ही जबरदस्त पावर है। और एक इंटरेस्टिंग बात आपको बता दें, कि दया के भाई वही हैं जो तारक मेहता में उनके छोटे भाई का किरदार निभाते हैं, जिनका नाम सुंदर है। 

दया ने आगे चलकर 'लाली लीला' और 'कमल पटेल विशेज धमाल पटेल' जैसे कुछ प्रसिद्ध गुजराती प्ले में भी काम किया। गुजराती प्ले में प्रसिद्ध होने के बाद दिशा ने अपने आप को फिल्मों में भी आजमाने की सोचि। और फिर 1997 में उन्होंने एक बी ग्रेड की मूवी 'कमसित द अनटच' में काम किया।

 और फिर 1999 मे आई, एक लो बजट फिल्म 'फूल और अंगार' में भी उन्हें देखा गया। इसके अलावा 2002 में देवदास और 2005 में मंगल पांडे और 2008 में जोधा अकबर जैसी हिट मूवी में काम किया। दोस्तों अभी तक दिशा ने कई सारी मूवी में छोटे-मोटे रोल किए।


लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। और 2008 में उनकी एक सहेली ने उन्हें बताया। की प्रोडक्शन हाउस नीला टेलिफिल्म्स, 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के लिए ऑडिशन ले रहे हैं। दिशा तुरंत वहां पहुंच गई और ऑडिशन में उनका सिलेक्शन हो गया।

 बस यहीं से उनकी किस्मत बदल गई। और उनके किरदार दया बेन से वे देखते ही देखते बहुत प्रसिद्ध हो गए। तारक मेहता में एक्टिंग करने के लिए उन्हें, नौवां और दसवां इंडियन टेली अवॉर्ड्स, इंडियन टेलिविजन अकैडमी अवॉर्ड्स और ज़ी गोल्ड अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

अगर दिशा की पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने 24 नवंबर 2010 को चार्टेड अकाउंटेंट मयूर पांड्या के साथ शादी की।


« और यह भी पढ़ें »

जॉनी लीवर की जीवनी

भारती सिंह की सफलता की कहानी 

तारक मेहता का जेठालाल की  कहानी 






 Note:

आपके पास About Disha Vakani ki kahani मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. अगर आपको हमारी Blog Post  Disha Vakani ki kahani Hindi Language में अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और WhatsApp Status पर Share कीजिये.


E-MAIL Subscription करे और पायें Easy Biography For Readers Disha Vakani ki kahani आपके ईमेल पर.






hemraj

Hemraj Kumar 


दोस्तों मेरा नाम है Hemraj Kumar है Gyanhindime.com का founder हूँ मुझे किताबों और इन्टरनेट पर नई नई रोचक जानकारी पढ़ना बहुत पसंद है और इसीलिए मेने यह Blog बनाया है की में अपने इस Wabsite Blog GyanHindiMe.com के माध्यम से आप सभी को रोचक जानकारियाँ दे सकू कृपया हमें सपोर्ट करें और हमारा मनोबल बढ़ाएं जिससे कि हम आपके लिए और रोचक और हेल्पफुल लेख लाते रहें

0/Post a Comment/Comments