भूमि पेडनेकर की सफलता कहानी Bhumi Pednekar Biography

भूमि पेडनेकर का जन्म 18 जुलाई 1989 को कोंडकर महाराष्ट्र में हुआ था। उनके पिता का नाम सतीश पेडनेकर था। जो गोवा के एक छोटे से गांव पेङने से ताल्लुक रखते थे। और इस गांव के लोग अपना सरनेम पेडनेेकर लिखते हैं। भूमि के नाम में पेडनेकर शब्द यहीं से आया है। भूमि की मां का नाम सुमित्रा हुडा पटनेकर है। जो एक हरियाणवी है।


भूमि ने अपनी स्कूलिंग मुंबई के आर्य विद्या स्कूल से अपनी पढ़ाई की। और फिर आगे चलकर उन्होंने फिल्मों में जाने का मन बनाया। जिसके बाद उनकी माता पिता ने भी उनका पूरा सपोर्ट किया। और उनका एडमिशन सुभाष घई एक्टिंग स्कूल में कराया। जहां से भूमि ने 1 साल का डिप्लोमा पूरा किया। डिप्लोमा पूरा होने के बाद उनकी एक दोस्त ने बताया। कि


bhumi pednekar biography
Bhumi Pednekar Biography 


यशराज फिल्म्स एक असिस्टेंट कास्टिंग डायरेक्टर की खोज में है। अगर तुम चाहो तो वहां जाकर कोशिश कर सकती हो। अपने दोस्त की कहने पर घूमी ने वहां जाकर इंटरव्यू दे दिया। और वहां वह सेलेक्ट कर ली गई। और फिर वह कास्टिंग डायरेक्टर सनोज शर्मा के अंडर में काम करने लगी। बतौर असिस्टेंट कास्टिंग डायरेक्टर उन्होंने 'चक दे इंडिया' और 'रॉकेट सिंह' जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम किया।


भूमि पेडनेकर की सफलता कहानी bhumi pednekar ki kahani


भूमि का काम देखकर डायरेक्टर मनीष शर्मा ने उनका एक्टिंग की तरफ उत्साह देखा। और उन्होंने अपनी अपकमिंग फिल्म 'दम लगा के हईशा' में उनको साइन कर लिया। जहां पर अपने किरदार को देखते हुए भूमि ने करीबन 12 किलो वजन बढ़ाया। इस फिल्म में वह आयुष्मान खुराना के साथ नजर आई थी। फिल्म में उन्होंने संध्या वर्मा नाम की एक शादीशुदा महिला का किरदार निभाया था।


इस फिल्म ने रिलीज होने के बाद एक अच्छा कारोबार किया। और लोगों ने भी उनके काम की काफी प्रशंसा की। और यहां तक की रानी मुखर्जी भी उनकी एक्टिंग को देखकर अपने आप को रोक नहीं पाई और यशराज फिल्म्स के ऑफिस जाकर उनको बधाइयां दी। 'दम लगा के हईशा' के लिए भूमि को फिल्म फेयर अवार्ड फ़ॉर बेस्ट एक्टर डेब्यू अवार्ड दिया गया।


इसके अलावा स्क्रीन अवॉर्ड, ज़ी अवॉर्ड, इंटरनेशनल इंडियन फिल्म अकैडमी अवॉर्ड जैसे बहुत सारे अवॉर्ड मिले।
उसी साल भूमि ने प्रसिद्ध वेब सीरीज मेंस वर्ल्ड में भी काम किया। जाएं इस वेब सीरीज का चौथा पार्ट जेंडर इक्वलिटी पर आधारित था। इसे 29 सितंबर 2015 को यूट्यूब पर रिलीज किया गया।


भूमि पेडनेकर की सफलता कहानी bhumi pednekar ki kahani


आगे चलकर भूमि ने अपने शरीर पर काम किया और अपना बढ़ाया हुआ वजन फिर से कम कर लिया। 2 साल पर्दे से दूर रहने के बाद उन्होंने जबर्दस्त वापसी की। और श्री नारायण के डायरेक्शन में काम करते हुए। अक्षय कुमार के साथ 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' मूवी में काम किया। जिसे लोगों द्वारा एक बार फिर से बहुत पसंद किया गया। और यह फिल्म भी सुपरहिट हो गई। इस फिल्म के बाद उन्होंने 'शुभ मंगल सावधान' फिल्म में भी काम किया।


यह फ़िल्म भी समाज के ऊपर ही बनाई गई है जिसमें नपुंसकता को बताया गया है।भूमि पेडणेकर ने अपनी एक्टिंग से यह साबित कर दिया है, कि आने वाले सालों में वह बहुत बड़ी एक्ट्रेस बनेंगी।



और पढ़े






आपके पास मैं और
भूमि पेडनेकर की सफलता कहानी bhumi pednekar ki kahani Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इसे समय समय पर अपडेट करते रहेंगे.अगर आपको हमारे लेख अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और WhatsApp पर Share कीजिये.E-MAIL Subscription करे और पायें बड़े आसानी लेख अपने ईमेल पर.











hemraj

Hemraj Kumar 


दोस्तों मेरा नाम है Hemraj Kumar है Gyanhindime.com का founder हूँ मुझे किताबों और इन्टरनेट पर नई नई रोचक जानकारी पढ़ना बहुत पसंद है और इसीलिए मेने यह Blog बनाया है की में अपने इस Wabsite Blog GyanHindiMe.com के माध्यम से आप सभी को रोचक जानकारियाँ दे सकू कृपया हमें सपोर्ट करें और हमारा मनोबल बढ़ाएं जिससे कि हम आपके लिए और रोचक और हेल्पफुल लेख लाते रहें

0/Post a Comment/Comments