जाने बॉडीबिल्डर से एक्टर बनने तक की कहानी Arnold Schwarzenegger


अर्नोल्ड श्वार्जनेगर का प्रारंभिक जीवन –Arnold Schwarzenegger Early Life Information in Hindi


अर्नोल्ड का जन्म 30 जुलाई 1947 को थल स्टीरिया ऑस्ट्रेलिया में हुआ था। उनके पिता बहुत सख्त थे। उन्हें छोटी-छोटी गलतियों के लिए मारा जाता था। कभी बालों से पकड़ कर की छा जाता,

तो कभी बेल्ट से मारा जाता। उनके पिता ने ना ही उनसे कभी ठीक से बात की और ना ही उन्हें कभी जानने की कोशिश की। लेकिन उनकी मां से उनकी अच्छी बनती थी। वह उन्हें हमेशा प्रोत्साहित करती थी।

बचपन में उन्हें फुटबॉल खेलना बहुत अच्छा लगता। और अपने कोच के साथ डेली प्रैक्टिस करते थे। एक दिन उनके कोच उन्हें जिम दिखाने ले गए। और अर्नोल्ड ने पहली बार जिम देखी, उस समय उनकी उम्र केवल 14 साल थी। उन्होंने अपने कोच से जिम लगाने की बात बोली, उनके कोच ने कहा जिम या फुटबॉल में से किसी एक को चुनना होगा। तो फिर अर्नाल्ड ने जिम को चुना।

Arnold biography in hindi


और फिर वह घंटों जिम में एक्सरसाइज करते। वीकेंड्स में भी वह रिक्वेस्ट करके जिम खुलवाते। जिस दिन वह जिम नहीं जाते उस दिन वह बेचैन हो जाया करते थे। उन्हें केवल एक ही जुनून सवार था कि उन्हें बॉडीबिल्डिंग कंपटीशन लड़ना है। उन्हें जिम करने के अलावा और कुछ नहीं सूझता था।

18 साल की उम्र में उन्हें कंपलसरी आर्मी जॉइन करनी पड़ी। अपनी सर्विस के दौरान उन्होंने बॉडीबिल्डिंग नहीं छोड़ी और अपनी सर्विस के दौरान ही उन्होंने जूनियर यूरोप बॉडीबिल्डिंग जीता। उन्होंने फैसला किया कि उन्हें मिस्टर यूनिवर्स बनना है।

Arnold biography in hindi


1966 में वह अमेरिका जाकर ट्रेनिंग लेने लगे। और अपने दूसरे अटेम्प्ट में मिस्टर यूनिवर्स बन गए। उनका सपना पूरा हो गया था अब वह हॉलीवुड मूवी में एक्टिंग करना चाहते थे। लेकिन उन्हें इंग्लिश नहीं आती थी। क्योंकि उनकी मां जर्मन थी। इंग्लिश सीखने के बावजूद भी उनकी बोली में जर्मन भाषा झलकती थी। जिस वजह से उन्हें हर ऑडिशन में रिजेक्शन मिले।

कोई कहता कि तुम्हे इंग्लिश नहीं आती तुम एक्टिंग कैसे करोगे तो कोई कहता तुम बॉडीबिल्डर हो तुम एक्टिंग नहीं कर पाओगे। अर्नोल्ड यह बात सुनकर एक्टिंग में काफी मेहनत करने लगे और अपनी इंग्लिश भी उन्होंने काफी अच्छी कर ली।

वह 23 साल में सबसे युवा मिस्टर ओलंपिया बने। यह एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है जो आज भी उन्हीं के नाम है। अपनी परेशानियों को दूर करने के लिए उन्होंने महाऋषि महेश योगी जी से मेडिटेशन सीखा। वह आज भी मेडिटेशन प्रैक्टिस करते हैं।

1973 में उन्हें 'द लॉन्ग गुड बाय' मूवी में काम करने का मौका मिला। लेकिन फिल्म में उनका एक भी डायलॉग नहीं था। 1977 में उन्हें बॉडीबिल्डिंग फिल्म 'पंपिंग आईरन' से हॉलीवुड में नई पहचान मिली। और 1982 में कैनोन द बारबेरियल फिल्म आई। और यह फिल्म उनकी सुपरहिट रही।

1984 में जेम्स ने उन्हें टर्मिनेटर ऑफर की इस फिल्म ने उन्हें पूरी दुनिया में पहचान दिलाई। उन्होंने आगे चलकर भी बहुत सारी फिल्में कि जैसे-

कमांडो, प्रेडेटर, रो डील, टोटल रिकॉल,

जैसी बहुत सारी सुपरहिट एक्शन फिल्में की।
उन्हें राजनीति में दिलचस्पी थी। वे लोगों के लिए कुछ करना चाहते थे। 2003 में उन्होंने चुनाव लड़ा और वह कैलिफोर्निया के गवर्नर बने। अर्नाल्ड मैगजीन के लिए भी लिखते हैं। उन्होंने अपनी बायोग्राफी टोटल रीकॉल 2012 में पब्लिश की। जो कि लोगों को काफी पसंद आई।

उन्होंने बॉडीबिल्डिंग से रिलेटेड किताबें भी लिखी है।

अगर उनकी पारिवारिक बात की जाए तो उन्होंने 1986 में उन्होंने मारिया श्रीवर के साथ शादी की। किन्ही कारणों से 2011 में उन्होंने तलाक ले लिया। उनके कुल 5 बच्चे है। जिनमें तीन लड़के और दो लड़कियां हैं।




और पढ़े

तमिल फिल्म के सुपरस्टार रजनीकांत की कहानी 

बोमन ईरानी की सफलता कहानी 

भूमि पेडनेकर की सफलता कहानी 



Note:

आपके पास Arnold biography in hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इसे समय समय पर अपडेट करते रहेंगे.अगर आपको हमारे लेख अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और WhatsApp पर Share कीजिये.E-MAIL Subscription करे और पायें बड़े आसानी लेख अपने ईमेल पर










hemraj

Hemraj Kumar 


दोस्तों मेरा नाम है Hemraj Kumar है Gyanhindime.com का founder हूँ मुझे किताबों और इन्टरनेट पर नई नई रोचक जानकारी पढ़ना बहुत पसंद है और इसीलिए मेने यह Blog बनाया है की में अपने इस Wabsite Blog GyanHindiMe.com के माध्यम से आप सभी को रोचक जानकारियाँ दे सकू कृपया हमें सपोर्ट करें और हमारा मनोबल बढ़ाएं जिससे कि हम आपके लिए और रोचक और हेल्पफुल लेख लाते रहें

0/Post a Comment/Comments