बोमन ईरानी जीवन परिचय Boman irani success story in hindi



Boman irani success story in hindi बोमन ईरानी का जन्म 2 दिसंबर 1959 को मुंबई में हुआ था। उनके जन्म से 3 महीने पहले ही उनके पिता की मृत्यु हो गई थी। इसीलिए उनकी सारी जिम्मेदारी उनकी मां ने उठाई बोमन ने अपनी पढ़ाई पुणे के सेंट मैरी स्कूल से की। जहां पर वह सबसे पिछड़े बच्चों में गिने जाते थे।

Boman irani success story in hindi
Boman irani success story in hindi

बोमन बचपन में बहुत तुतलाकर बोला करते थे। उन्हे Dyslexic नाम की एक बीमारी थी। जिस बीमारी में बच्चे शब्दों को सही से नहीं पहचान पाते हैं और तुतला कर बोलते हैं। लेकिन उन्होंने ट्रीटमेंट करके इस बीमारी का इलाज करवा लिया था।


उन्होंने अपनी स्कूलिंग करने के बाद मुंबई के मीठीबाई कॉलेज से वेटर बनने के लिए कोर्स किया। वेटर का कोर्स पूरा करने के बाद वह ताजमहल पैलेस एंड टॉवर में वेटर और रूम सर्विसिंग स्टाफ की तौर पर काम करने लगे। इसके अलावा वह एक फ्रांसीसी रेस्ट्रॉन्ट में भी काम कर चुके थे। और करीब 2 साल बाद मैं अपने घर वापस आए और अपनी पुश्तैनी बेकरी चलाने लगे।


यह बेकरी मुंबई के ग्रांड रोड इलाके में नॉवल्टी और अप्सरा सिनेमा के बीच में थी। बोमन को फिल्म देखने का बहुत शौक था, इसलिए वह पास के सिनेमा में फिल्में देखने जाया करते रहते थे।

बोमन ने 32 साल की उम्र तक अपनी छोटी सी बेकरी शॉप चलाई। जिससे उनका केवल खर्चा निकल पाता था। उनकी उम्र 32 साल हो गई और वह यह सोचते थे कि उन्होंने अपनी जिंदगी में ऐसा कुछ नहीं किया जिसकी वजह से लोगों ने जाने। इसीलिए उन्होंने कुछ नया और अलग करने की सोची और उन्होंने अपनी बेकरी चलाने के साथ-साथ फोटोग्राफी करना भी शुरू कर दिया।


उन्होंने Pentax k100 खरीदा। जिसकी कीमत उस समय ₹2700 थी। और वह बच्चों के क्रिकेट और फुटबॉल के मैचों में जाकर फोटो खींचते और उन्हें 20 से ₹30 में बेच दिया करते थे। इसी तरह उन्होंने छोटे-मोटे इवेंट्स में भी फोटोग्राफी शुरू की। 1991 में उन्होंने वर्ल्ड बॉक्सिंग में भी फोटोग्राफी की। और इसके लिए उन्हें अच्छे खासे पैसे भी मिले।


एक्टिंग का शौक बचपन से होने की वजह से, उन्होंने 1981 से लेकर 1983 तक एक्टिंग कोच हंसराज सिद्धकी से ट्रेनिंग ली। और उन्होंने अपने शौक को पूरा करने के लिए बहुत सारे थियेटर हॉल में एक्टिंग की। जिसमें से आई एम नॉट बाजीराव शो काफी हिट रहा था। इसके बाद उन्होंने फेंटा, सिएट, और क्रेक्जैक जैसे विज्ञापनों में भी काफी काम किया।

बोमन ईरानी जीवन परिचय |boman irani success story in hindi


उनकी एक्टिंग को विनोद चोपड़ा ने पहचाना और उन्हें दो लाख का चेक देकर अपनी फिल्म के लिए साइन कर लिया। बोमन ईरानी पहली बार मुन्ना भाई एमबीबीएस में नजर आए जिसे राजकुमार इरानी ने डायरेक्ट किया था। और यह फिल्म एक एक्टर के तौर पर राजकुमार की भी एक डेब्यू फिल्म थी। और इसके प्रड्यूसर थे विनोद चोपड़ा। इस फिल्म में उनके निभाए गए किरदार की लोगों ने जमकर तारीफ की।


और बस यहीं से उनकी सफलता की कहानी शुरू हो गई। फिर उन्होंने कई सारी फिल्में कि जैसे-

मैं हूं ना- लगे रहो मुन्ना भाई- खोसला का घोसला- नो एंट्री-डॉन- हे बेबी- हाउसफुल- पीके-


जैसी बहुत सारी हिट मूवी में काम किया।और रूम सर्विसर, बेकरी शॉप और फोटोग्राफर जैसे छोटे-मोटे काम करने वाले इस व्यक्ति को उनकी एक्टिंग की वजह से सभी लोग जानते हैं।




और पढ़े






Note:

आपके पास मैं और
बोमन ईरानी जीवन परिचय | Boman irani success story in hindi और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इसे समय समय पर अपडेट करते रहेंगे.अगर आपको हमारे लेख अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और WhatsApp पर Share कीजिये.E-MAIL Subscription करे और पायें बड़े आसानी लेख अपने ईमेल पर.


hemraj

Hemraj Kumar 


दोस्तों मेरा नाम है Hemraj Kumar है Gyanhindime.com का founder हूँ मुझे किताबों और इन्टरनेट पर नई नई रोचक जानकारी पढ़ना बहुत पसंद है और इसीलिए मेने यह Blog बनाया है की में अपने इस Wabsite Blog GyanHindiMe.com के माध्यम से आप सभी को रोचक जानकारियाँ दे सकू कृपया हमें सपोर्ट करें और हमारा मनोबल बढ़ाएं जिससे कि हम आपके लिए और रोचक और हेल्पफुल लेख लाते रहें

0/Post a Comment/Comments