नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनेता बनने तक की कहानी


आज हम ऐसी शख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें एक बड़ी फिल्म में रोल करने के लिए 12 साल लग गए। लेकिन कुछ इस साल में उसने अपनी एक्टिंग से देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी अपना लोहा बनवाया है।


नवाजुद्दीन सिद्दीकी का प्रारंभिक जीवन – nawazuddin siddiqui Early Life Information 



nawazuddin ki kahani
nawazuddin ki kahani



नवाजुद्दीन सिद्दीकी का जन्म 1974 में उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक छोटे से गांव भुराना में हुआ था। 9 भाई बहनों के बीच नवाज सबसे बड़े हैं। उनके पिता एक किसान है और वह बताते हैं कि नवाज पूरे साल भर पैसे जुटाता था। और ईद या दीपावली के दिन शहर जाकर फिल्म देखता था। नवाजुद्दीन शुरू से ही अपने गांव से निकलना चाहते थे। बजा थी वहां का माहौल बिल्कुल भी अच्छा नहीं था।


नवाज कहते हैं कि उनके गांव में बस लोग तीन ही चीज जानते हैं। गेहूं, गन्ना और गन माहौल अच्छा ना होने की वजह से वह हरिद्वार चले गए जहां उन्होंने केमिस्ट्री में बीएससी की पढ़ाई पूरी की उसके बाद वह बड़ोदरा गुजरात में एक कंपनी में बतौर एक केमिस्ट काम करने लगे।


इस काम मे उनका मन नहीं लगता था लेकिन पैसों के लिए उन्हें काम करना पड़ता था। इसलिए वह काम किए जा रही थे। एक दिन उनके दोस्त ने उन्हें एक गुजराती नाटक दिखाया। मैं नाटक देख कर उन्हें मजा आ गया। और उनके अंदर से आवाज आई कि शायद यही काम करने के लिए वह पैदा हुए हैं। पर आज तक समझ नहीं पाए वह अपना करियर बनाने के लिए दिल्ली आ गए।


नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनेता बनने तक की कहानी nawazuddin ki kahani


वहां पर उन्होंने कुछ जगह देखी और एक्टर बनने का निर्णय बना लिया। और फिर नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा जिसे हम एनएसडी भी कहते हैं। वहां से उन्होंने एक्टिंग सीखी 4 साल तक वह दिल्ली में रहे और छोटे-मोटे रोल भी किए। लेकिन उनसे उनका खर्चा नहीं चल पा रहा था। सन 2000 में वह मुंबई इस आशा से आ गए। कि जल्दी ही उन्हें टीवी सीरियल में काम मिल जाएगा।


जिन से उनका जीवन पटरी पर आ जाएगा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। और सीरियल में भी उन्हें काम नहीं मिला नवाज ने एक इंटरव्यू में बताया कि हर जगह पर अपना फोटो देते रहे लेकिन कहीं भी कोई रोल देने के लिए तैयार नहीं हुआ। वहां भिखारी के लिए उन्हें 6 फीट का आदमी चाहिए होता था। और मुझ जैसे छोटे कद के एक्टर को लेना कोई पसंद नहीं करता था।


नमाज के पास अब बिलकुल भी पैसे नहीं बचे थे। इसीलिए उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के सीनियर से पनाह मांगी। और उन्होंने एक शर्त पर उन्हें वहां अपने घर पनाह दी कि घर का सहारा काम तुम्हें ही करना पड़ेगा। थोड़ी पैसों के लिए उन्होंने वॉचमैन की जॉब कर ली। और सुबह से शाम तक जॉब करते और रात को एक्टिंग करते। सीरियल में जॉब न मिलने के बाद नवाज ने छोटे-मोटे रोल करने के लिए फिल्मों में ट्राई किया। कैसे भी करके रोल मिला तो लेकिन उनके शुरुआती दिन बहुत ही कठिन थे। उनका अभिनय पॉकेटमार और धक्का मार तक ही सीमित रह जाता था।


नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनेता बनने तक की कहानी nawazuddin ki kahani


लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और कभी ना कभी तो उन्हें बड़ा रोल मिलेगा यही सोच कर वह लगे रहे। एक समय तो ऐसा था कि उनके पास खाना खाने के लिए भी पैसे नहीं थे। और उन्हें ऐसा लगता था कि उन्हें गांव वापस चले जाना चाहिए। लेकिन वह यह सोचते कि वह क्या मुंह लेकर वापस जाए।


एक बार अनुराग कश्यप ने उनका एक हिंदी डायलॉग देखा और प्रभावित होकर उन्हें ब्लैक फ्राईडे में एक बड़ा रोल करने को दिया। जिसे नवाज ने बखूबी निभाया। बस वहीं से उन्हें सफलता मिलनी शुरू हो गई थी। कुछ अच्छे और बड़े रोल मिलने की वजह से पैसों की समस्या काफी हद तक सही हो गई थी।


नमाज की मेहनत और एक्टिंग देखते हुए अनुराग कश्यप ने उन्हें साइड एक्टर से एक्टर बनाने का सोच लिया था। और गैंग ऑफ वासेपुर में उन्हें लीड रोल दे दी। और बस फिर क्या नमाज में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और ऐसे ही अपने एक्टिंग का जलवा दिखाते हुए उन्होंने मांझी द माउंटेन मैन में अपना लोहा बनवाया।


बजरंगी भाईजान में भी उनके सपोर्टिंग रोल को काफी सराहना गया। उनकी कड़ी मेहनत और एक्टिंग की वजह से वह पर्दे पर छा गए बल्कि बहुत सारे अवॉर्ड अपने नाम किए। नवाज अपने आप को स्टार नहीं एक एक्टर मानते हैं। उनका मानना है कि वह एक स्टार नहीं एक एक्टर बनकर रहना चाहते हैं। क्योंकि स्टार बनने के बाद आपकी पहचान बन जाती है और आप ठीक से घूम फिर नहीं सकते।


दोस्तों नवाजुद्दीन में ऐसा कुछ भी नहीं था जो एक हीरो में होता है। फिर भी आज वह एक बड़े स्टार हैं। अगर आपको अपने सपनों को पाना है तो कभी हार मत मानो। चाहे कितने भी मुसीबतों का सामना करना पड़े बस उनसे लड़कर आगे बढ़ते रहो। ऊपरवाला आपकी मेहनत को देखता है मगर देर से सही लेकिन आपको उसका फल जरूर देता है।



« और यह भी पढ़ें »

जॉनी लीवर की जीवनी 

खिलाड़ी अक्षय कुमार की सफलता की कहानी 

Bhuvan Bam एक सफल यूट्यूबर की सफलता की कहानी 






 Note:

आपके पास About नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनेता बनने तक की कहानी nawazuddin ki kahani मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. अगर आपको हमारी Blog Post  nawazuddin ki kahani Hindi Language में अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और WhatsApp Status पर Share कीजिये.


E-MAIL Subscription करे और पायें Easy Biography For Readers nawazuddin ki kahani आपके ईमेल पर.






hemraj

Hemraj Kumar 


दोस्तों मेरा नाम है Hemraj Kumar है Gyanhindime.com का founder हूँ मुझे किताबों और इन्टरनेट पर नई नई रोचक जानकारी पढ़ना बहुत पसंद है और इसीलिए मेने यह Blog बनाया है की में अपने इस Wabsite Blog GyanHindiMe.com के माध्यम से आप सभी को रोचक जानकारियाँ दे सकू कृपया हमें सपोर्ट करें और हमारा मनोबल बढ़ाएं जिससे कि हम आपके लिए और रोचक और हेल्पफुल लेख लाते रहें

0/Post a Comment/Comments