अंतरिक्ष में कदम रखने वाले पहले भारतीय Rakesh Sharma Biography in Hindi


दोस्तों बचपन में हमने यह सवाल तो जरूर सुनें होंगे अंतरिक्ष में कदम रखने वाले पहले भारतीय कौन थे


और शायद यह सवार हम में से काफी लोगों को पता होगा लेकिन जीने नहीं पता उनने मैं बता दूं की अंतरिक्ष मैं पहले कदम रखने वाले भारतीय राकेश शर्मा थे |हालांकि जनरल नॉलेज के बल पर यह बात तो सभी को पता होगी लेकिन इस कदम के पीछे कितने संघर्ष छुपे हुए यह बात बहुत ही कम लोग जानते हैं


क्योंकि उस समय अपने देश का ना तो कोई भी स्पेस प्रोग्राम था ना तो कोई इस से संबंधित भारत में एजुकेशन थी लेकिन इसके बाबजूद कठिन परिस्थितियों का सामना कर राकेश शर्मा ने दूसरे देश में जाकर ट्रेनिंग ली |


और तब जाकर भारत को गर्भ मानित होने का मौका मिला |


इसके अलावा राकेश शर्मा के बहुत ही दिलचस्प बाते हैं जोकि आपको नहीं पता तो आज के आर्टिकल मैं हम राकेश शर्मा जी की पूरी कहानी  जानेंगे किस तरह भारत के एक आम परिवार में जन्मा है यह लड़का स्पेस में कदम रखने वाला पहला भारतीय बना राकेश शर्मा की लाइफ स्टोरी थोड़ा करीब से जानने की कोशिश करते है |


rakesh sharma biography in Hindi
 Rakesh Sharma biography in Hindi


दोस्तों इस कहानी की शुरुआत होती है 13 जनवरी 1949 जब पंजाब के पटियाला शहर में  राकेश शर्मा का जन्म हुआ उनके पिता का नाम देवेंद्र शर्मा मां का नाम तृप्ता शर्मा था |और दोस्तों राकेश शर्मा का बचपन से यह सपना था कि वह 1 दिन हवा में उड़े ईनी सपनों को मन में संजोकर राकेश शर्मा आगे बढ़ते रहे |


उन्होंने अपने स्कूल की पढ़ाई सेंट जॉर्ज ग्रामर स्कूल हैदराबाद से की और यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद से अपनी ग्रेजुएशन भी की और शुरू से ही पढ़ाई लिखाई में बहुत अच्छे थे |और इसीलिए 1966 में नेशनल डिफेंस अकैडमी के लिए चुने गए और बतौर कैडेट एयरफोर्स जॉइन की और फिर राकेश शर्मा के डेडीकेशन और मेहनत को देखते हुए 1970 में पायलट बनने के लिए शामिल किया गया |


rakesh sharma biography in Hindi


एयर फोर्स जॉइन करने के बाद शुरुआती समय में राकेश शर्मा एक टेस्ट पायलट थे और वहां उन्होंने अलग-अलग तरह के एयरक्राफ्ट उड़ाए जिसमें उस समय का शक्तिशाली एयरक्राफ्ट मिघ भी मौजूद था और समय के साथ राकेश शर्मा की रैंक भी एयर फोर्स में बढ़ती जा रही थी और एक समय ऐसा भी आया उन्हें एक अच्छा पायलट तक माना गया यह तो अभी उनकी सफर की शुरुआत थी क्योंकि आगे चलकर उनकी लाइफ में एक ऐसा मुकाम आने वाला था |


उनका नाम भारत के इतिहास में हमेशा के लिए दर्ज होने वाला था तो दोस्तों एस्ट्रोनॉट यानी अंतरिक्ष यात्री के तौर पर राकेश शर्मा का सफर शुरू हुआ 20 सितंबर 1982 से जब भारत और रूस स्पेस प्रोग्राम के लिए चुना गया और दोस्तों यह सिलेक्शन बहुत सारे पायलटों के बीच से किया गया साथ ही राकेश शर्मा के अलावा रवीश मल्होत्रा को भी इस काम के लिए चुने गए |


लेकिन उन्हें बतौर बैकअप टीम में शामिल किया गया और फिर सिलेक्शन प्रोसेस पूरी हो जाने के बाद राकेश शर्मा को रूस भेज दिया गया जहां पर उनकी कठिन से कठिन ट्रेनिंग दी गई इस ट्रेनिंग में उन्हें रूस की लोकल लैंग्वेज सीखनी पड़ी साथ ही साथ उनके खान-पान से लेकर बड़ी बारीकी से नजर रखी जाती लेकिन राकेश शर्मा हर मुश्किल पर जीत पाकर अपने चयन को सही साबित किया |


और कई महीनों की ट्रेनिंग के बाद 3 अप्रैल 1984 अंतरिक्ष में उड़ान भरने का दिन आया अंतरिक्ष यान Soyuz T-11 पर सवार होकर अंतरिक्ष जाने वाली पहले भारतीय बने साथ ही उनके अलावा रूस के दो अन्य यात्री उस में सवार थे और फिर राकेश शर्मा और उनके साथियों ने 7 दिन 21 घंटे 40 मिनट अंतरिक्ष में बताएं साथ ही वहां पर उन्होंने रिमोट सेंसिंग को लेकर रिसर्च किए


rakesh sharma biography in Hindi


 और दोस्तों अंतरिक्ष में रहते हुए भी राकेश शर्मा ने उस समय की प्रधानमंत्री यानी इंदिरा गांधी से भी बात की तो उसी समय इंदिरा गांधी ने राकेश शर्मा से पूछा कि वहां से भारत कैसा दिखता है राकेश शर्मा ने कहा सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा और यह जवाब सुनकर ना की इंदिरा गांधी और पूरा देश झूम उठा करीब 8 दिन बिताकर राकेश शर्मा जब भारत वापस आए |


तब लोगों ने उनका खूब सम्मान किया साथ ही राकेश शर्मा को रूस की सरकार से Hero of the Soviet Union Awards सम्मानित किया और भारत ने भी अपने हिरोे राकेश शर्मा जी को अशोक चक्र से सम्मानित किया |


राकेश शर्मा जी के पर्सनल लाइफ के बारे में बात करें तो उन्होंने मधु नाम की एक लड़की के साथ शादी की जिनसे वह 1982 मैं अपनी ट्रेनिंग के दौरान रूस में मिले थे और मधु से उनके दो बच्चे भी है कपिल और कृतिका कपिल एक फिल्म डायरेक्टर हैं कृतिका एक मीडिया आर्टिस्ट के तौर पर काम करती है


दोस्तों और में भारत के इस हीरो को सलूट करना चाहूंगा जिन्होंने पूरे देश को गौरवान्वित होने का मौका दिया उम्मीद करता हूं Rakesh sharma का यह Article जरूर पसंद आएगा



« और यह भी पढ़ें »

मिसाइल मैन अब्दुल कलाम की कहानी 

कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने बाली पहली भारतीय महिला की कहानी 



NOTE

आपके पास मैं  rakesh sharma biography in hindi और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इसे समय समय पर अपडेट करते रहेंगे.अगर आपको हमारे लेख अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook और          WhatsApp पर Share कीजिये.           E-MAIL Subscription करे और पायें बड़े आसानी लेख अपने ईमेल पर.






hemraj

Hemraj Kumar 


दोस्तों मेरा नाम है Hemraj Kumar है Gyanhindime.com का founder हूँ मुझे किताबों और इन्टरनेट पर नई नई रोचक जानकारी पढ़ना बहुत पसंद है और इसीलिए मेने यह Blog बनाया है की में अपने इस Wabsite Blog GyanHindiMe.com के माध्यम से आप सभी को रोचक जानकारियाँ दे सकू कृपया हमें सपोर्ट करें और हमारा मनोबल बढ़ाएं जिससे कि हम आपके लिए और रोचक और हेल्पफुल लेख लाते रहें

0/Post a Comment/Comments